निदेशक की कलम से

              हमारा दृढ़ निश्चय : गुणवत्तापूर्ण शिक्षा                

राष्ट्रीय पर्व, स्वतंत्रता दिवस की सभी को बहुत बहुत बधाई! हार्दिक शुभकामनाएँ!!

      प्रत्येक भारतीय के लिए 15 अगस्त गर्व और गौरव का महान उत्सव है। यह अधिकारों पर कर्त्तव्य की वरीयता के आत्मावलोकन का विशिष्ट दिवस है। आइए, स्वतन्त्रता दिवस के पावन पर्व पर हम दृढ़संकल्पित हों कि अपनी कार्यक्षमता का शतप्रतिशत राष्ट्र निर्माण में देने का प्रयास करेंगे।

      हम सौभाग्यशाली हैं कि हमें शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने का सुअवसर मिला है। हमारा दृढ़ निश्चय है कि गाँव-ढ़ाणी, दूर दराज क्षेत्र के प्रत्येक राजकीय विद्यालय में भी विद्यार्थियों को आनन्ददायी वातावरण में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त हो।

     प्रवेशोत्सव के बाद उत्साहजनक  नामांकन वृद्धि ने राजकीय विद्यालयों के संस्थाप्रधानों और शिक्षकों की जिम्मेदारी बढ़ा दी है। शैक्षिक उत्कृष्टता की कसौटी पर राजकीय विद्यालयों ने बोर्ड परीक्षा के सर्वश्रेष्ठ परिणाम देकर अपने को सिद्ध किया है, श्रेष्ठता की इसी परम्परा को और आगे बढ़ाते हुए शिखर पर ले जाना है। संस्थाप्रधान और   शिक्षक अपने कार्य व्यवहार से कार्यस्थल पर आदर्ष प्रस्तुत करें। विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास हेतु पूरे मनोयोग से कार्य करें ।

      सभी संवर्गों के रिक्त पदों पर त्वरित गति से पदस्थापन किए गए हैं। विषय अध्यापकों के पदोन्नति और पदस्थापन से प्रत्येक शाला में उत्कृष्ट शैक्षिक वातावरण बना है। शिक्षक सत्रारम्भ से ही परिणाम केन्द्रित योजना बना कर विद्यार्थियों को अपना सर्वश्रेष्ठ देने हेतु तैयार करें। चाहे शिक्षा परीक्षा हो या खेलकूद प्रतियोगिता विद्यार्थियों में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा जाग्रत कर सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी तैयार करें। विद्यार्थी खेल को खेल की भावना से खेलें अपनी जीत के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रदर्षन करें।

   संस्थाप्रधान शिक्षकों, अभिभावकों और भामाशाहों से बेहतर समन्वय करके शाला उन्नयन के कार्यों को प्राथमिकता से सम्पादित करें। सामुदायिक सहभागिता से अपने क्षेत्र के राजकीय विद्यालय को सर्वश्रेष्ठ विद्यालय बनाने में कोई कमी न रखें।

सभी के उज्ज्वल भविष्य की मंगलकामनाओं के साथ...!

        शुभकामनाओं सहित...

                                                                                                                           नथमल डिडेल
I.A.S.
                                      निदेशक, माध्यमिक शिक्षा 
                                 राजस्थान, बीकानेर

Shivira Panchang

राजस्थान की प्रारम्भिक शिक्षा एवं माध्यमिक शिक्षा के समस्त राजकीय, मान्यता प्राप्त गैर सरकारी/CBSE/CISCE से सम्बद्ध विद्यालयों/अनाथ बच्चों हेतु संचालित आवासीय विद्यालयों/विशेष प्रशिक्षण शिविरों एवं शिक्षक प्रशिक्षण विद्यालयों के लिए सत्र 2018-2019 का यह शिविरा पंचांग प्रस्तुत है। इसके अनुसार ही सत्रपर्यन्त विद्यालयी कार्यक्रम, अवकाश, परीक्षा, खेलकूद प्रतियोगिता आदि का आयोजन अनिवार्य है। 

Shivira Panchang 2018-19

Latest News

Related Links

Nodal Officer : Sh. Nathmal Didel (I.A.S), Director
Secondary Education, Rajasthan, Bikaner
dir.dse@rajasthan.gov.in
0151-2522238

© 2016 -Directorate, Secondary Education, Rajasthan